होली के दिन

 

Image result for images of holi

होली के दिन आए, देखिये होली के दिन आए

सुके पौधे, आज हरे वस्त्र पहेने, लेहराए,

गुलमहोर उंचा लाल वस्त्र पहेने शोभाए

होली के दिन आए, देखिये होली के दिन आए     २

 

कलियॉ मुश्काइ, फूलोकी सेज बिछाई

हवाकी लहेरे उठी, भर  खुश्बु फैलाई,

होली के दिन आए, देखिए होली के  दिन आए           २.

 

बसंत होली ने मिलकर, रंगोकी बर्षा बरसाइ,

भरी पीचकारी श्याम संग, राधाजीभी रंगाई

होली के दिन आए, देखिए होली के दिन आए             २

 

रसियॉ संग रसियॉ आज व्रजमॅ खेले होली

अबिल गुलाल केसरियॉ रंगोके उडे फुवारॅ

होली के दिन आए,  देखिए होली के दिन आए              २

 

राधा कृष्ण के प्रेम फुवारॅ उडे उंचे गगन

कैलाशमे, शिव पार्वती झिले खेले होली,

होली के दिन आए, देखिए होली के दिन आए                 २

 

बुराइयॉ जलाकर, आज अच्छाइयॉ फैलाऑ ,

स्वेत वस्त्र पहेने, एक दूसरे के रंगमे रंग जाऑ,

होली के दिन आए, देखिए  होली के दिन आए                २

 

आज नात, जात, धर्मभेद  भूलकर

पिचकारी भरभर प्रेम रंग बरसाए

होली के दिन आए, देखिए होली के दिन आए                  २

 

आऑ सौ  मिलझुल साथ होली मनाइए,

राम कृष्ण शिवजी के रंगमे रंग जाइए

होली के दिन आए, देखिए होली के दिन आए                २

Advertisements

About Dr Induben Shah

Retired Physician enjoy reading and writing.
This entry was posted in कविता. Bookmark the permalink.

3 Responses to होली के दिन

  1. indushah કહે છે:

    many readers sent comments via e mail
    I am pasting
    Beautiful poetry, sent by pushpa Desai

  2. indushah કહે છે:

    very nice by PragnajI Dadabhawala

પ્રતિસાદ આપો

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / બદલો )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / બદલો )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / બદલો )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / બદલો )

Connecting to %s